Skip to main content

ये है भारत का सबसे पुराना विश्वविद्यालय | Bharat Ka Sabse Purana Vishwavidyalaya

ये है भारत का सबसे पुराना विश्वविद्यालय | Bharat Ka Sabse Purana Vishwavidyalaya

आज हम आपको बताएंगे bharat ka sabse purana vishwavidyalaya कोनसा है? हमे काफी बार ये सवाल कमेंट के माध्यम से पूछा गया इसलिए इस प्रश्न का सही जवाब आज हम इस पोस्ट के जरिये आपको देंगे.

bharat ka sabse purana vishwavidyalaya :- तक्षशिला

तक्षशिला को विश्व का प्रथम विश्वविद्यालय माना जाता है. जिसकी स्थापना ७०० वर्ष ईसा पूर्व में की गई थी. तक्षशिला शहर प्राचीन भारत में गांधार जनपद की राजधानी और एशिया में शिक्षा का प्रमुख केंद्र था. वर्तमान पाकिस्तान के रावलपिडी से १८ मील उत्तर की ओर स्थित था. जिस नगर में यह विश्वविद्यालय था उसके बारे में कहा जाता है, कि श्री राम प्रभु के भाई भरत के पुत्र तक्ष ने उस नगर की स्थापना की थी. तक्षशिला विश्वविद्यालय में पूरे विश्व के १०,५०० से अधिक छात्र अध्ययन करते थे. और यहां पर भारत सहित चीन, सीरिया, ग्रीस और बेबिलोनिया के छात्र पढ़ते थे. इस विश्वविद्यालय में ६० से भी अधिक विषयों को पढ़ाया जाता था. उनमेसे महत्वपूर्ण पाठ्यक्रमों में  वेद-वेदांत, जिन सूत्र, धम्मपद, अष्टादस विद्याएं, दर्शन, व्याकरण, अर्थशास्त्र, ज्योतिष, आयुर्वेद, ललित कला, हस्त विद्या, पशुभाषा, अश्व विद्या, मंत्र विद्या, युद्ध विद्या, राजनीति, शल्यक्रिया, शस्त्र संचालन, विविध भाषाएं, हस्त विद्या, गणित आदि की शिक्षा दी जाती थी.इसके अलावा यहां ज्ञान और विज्ञान के मामले में शोध कार्य किया जाता था. ५०० ई. पू. जब संसार में चिकित्सा शास्त्र की परंपरा भी नहीं थी, तब तक्षशिला आयुर्वेद विज्ञान का सबसे बड़ा केन्द्र था.

तक्षशिला विश्वविद्यालय में पढऩे वाले उच्च वर्ण के ही छात्र होते थे. सुप्रसिद्ध विद्वान, चिंतक, कूटनीतिज्ञ, पाणिनी, अर्थशास्त्री चाणक्य ने भी अपनी शिक्षा यहीं पूर्ण की थी. उसके बाद यहीं शिक्षण कार्य करने लगे. यहीं उन्होंने अपने अनेक ग्रंथों की रचना की.

तक्षशिला व्यापार और राजनीति का प्रमुख केंद्र था. इसीलिए आक्रमणकारियों ने ई. पू. से  ही इस पर ध्यान केंद्रित था. भारत पर आक्रमण की शुरुआत तो यूनानियों से पूर्व की रही है, लेकिन जब यूनानियों ने भारत पर आक्रमण किया तब भारत की पश्चिम सीमा पर प्रमुख रूप से भारतीय जनपद गांधार और कम्बोज राज्य थे. उक्त राज्यों को मिलाकर आज अफगानिस्तान है.

अफगानिस्तान के पहले के क्षेत्र में सौवीर, खांडव, कैकय, यदु, तृसु, वाल्हिक आदि जनपद थे जिसे मिलाकर आज पाकिस्तान है. गांधार राज्य या जनपद की राजधानी तक्षशिला हुआ करती थी. यह तक्षशिला अब पाकिस्तान का हिस्सा है.

Comments

Popular posts from this blog

डी मार्ट में निकली बम्पर भर्ती 2020

मीटर रीडर पदों पर निकली बम्पर भर्ती 2020 में

पुलिस विभाग में बंपर भर्ती 2020 में