Skip to main content

उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री कौन थे | Uttar Pradesh Ke Pratham Mukhyamantri

उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री कौन थे | Uttar Pradesh Ke Pratham Mukhyamantri

जानेगे uttar pradesh ke pratham mukhyamantri का नाम। आपको तो पत्ता ही होगा की उत्तर प्रदेश भारत एक प्रमुख राज्य है। जनसंख्या के से दृष्टी से उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य है। उत्तर प्रदेश की जनसँख्या 20 से भी ज्यादा है। 24 जनवरी 1950 में राज्य का गठन किया गया था।

कही बार एग्जाम में उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री कौन थे, इसके बारे में सवाल पूछा जाता है, यहाँ पर हम आपको उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री के साथ उनके जीवन के बारे में सामान्य जानकारी भी देने वाले है।

उत्तर प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री कौन थे :- गोविंद वल्लभ पंत

24 जनवरी 1950 में राज्य का गठन किया गया था। इसके बाद पहली बार “गोविंद वल्लभ पंत” उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रीपद पर पदस्थ हुए। 26 जनवरी 1950 में गोविंद वल्लभ पंत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रीपद बने और इनका कार्यकाल 27 दिसम्बर 1954 तक रहा. गोविंद वल्लभ पंत 4 वर्ष, 335 दिन तक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे।

गोविंद वल्लभ पंत के बारे में सामान्य जानकारी

गोविंद वल्लभ पंत इनका पूरा नाम पंडित गोविन्द बल्लभ पन्त था, इन्हे जी.बी. पन्त भी कहा जाता है। गोविंद वल्लभ पंत भारत के स्वतन्त्रता सेनानी के रूप में कार्य किया है। भारत देश का सर्वोच्च पुरस्कार भारतरत्न से 1957 में गोविंद वल्लभ पंत जी को सम्मानित किया गया था। गोविंद वल्लभ पंत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रीपद रहने से पहले ब्रिटिश काल में उत्तर प्रदेश प्रांत के प्रधान रूप में भी कार्य किया था। 

गोविंद वल्लभ पंत जी का जन्म 10 सितम्बर 1887 में पश्चिमी प्रान्त, ब्रिटिश भारत में हुआ था, अब इसे उत्तराखण्ड राज्य कहा जाता है। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ये इनका राजनीतिक दल था। गोविंद वल्लभ पंत बचपन से बहुत हुशार थे, एनोहने वकालत की शिक्षा प्राप्त की है। 2 मार्च 1955 से 7 मार्च 1961 तक गोविंद वल्लभ पंत भारत के गृह मंत्री पद पर रहे थे। 7 मार्च 1961 गोविंद वल्लभ पंत जी का निधन हो गया, लेकिन इनके किये गए कार्य के कारन ये हमेशा हमारे यद् में रहेंगे

 संबंधित लेख जरूर पढ़ें

- उत्तर प्रदेश का राजकीय पशु कौन सा है 
- उत्तर प्रदेश की भाषा क्या है
- उत्तर प्रदेश का राजकीय फूल
- उत्तर प्रदेश के राज्यपाल

Comments