Skip to main content

वंदे मातरम के लेखक कौन है | Vande Mataram Ke Lekhak Kaun Hai

वंदे मातरम के लेखक कौन है | Vande Mataram Ke Lekhak Kaun Hai
 जानेगे vande mataram ke lekhak kaun hai, वंदे मातरम मातृभूमि के लिए एक प्रार्थना है। जिसे भारत में बहुत लोग गाते है। शायद आप भी इसे गाते होंगे लेकिन क्या आपको वंदे मातरम के लेखक कौन है? ये पत्ता है, नहीं तो ये पोस्ट आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है।

वंदे मातरम के लेखक :- बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय

वंदे मातरम के लेखक "बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय" है। बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय  वंदे मातरम को अपने उपन्यास आनंदमठ में 1882 में लिखा था। प्रथम इसे ट्टोपाध्याय जी ने बंगाली और संस्कृत में लिखा था. रबिन्द्रनाथ टैगोर वंदे मातरम गीत को पहली बार 1896 में गाया था। ने भारतीय स्वतंत्रता के time में लोग वंदे मातरम कविता को गाते थे, ये इनका प्रेरणास्रोत बन गया था।

बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय के बारे में जानकारी


बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय एक प्रमुख बंगाली साहित्य के प्रवर्तक थे। इनका जन्म 27 जून 1838 में नईहाटी नगर में हुआ। यादव चंद्रा चट्टोपाध्याय ये इनके पिता थे और दुर्गादेबी चट्टोपाध्याय ये इनके माँ का नाम है। राजलक्ष्मी देवी से बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय विवाह किया।

बंकिमचन्द्र चट्टोपाध्याय बंगाली भाषा में बहुत सरे ग्रन्थ लिखे है। दुर्गेश नंदिनी, आनंदमठ, मृणालिनी, चंद्रशेखर, विज्ञान रहस्य आदि शामिल है। वंदे मातरम् ये गीत लिखने के बाद उन्हें बड़ी लोकप्रियता मिली और उनके उस वक्त पुरे भारत में लोग पहचानने लगे, वंदे मातरम् लेखक के रूप में आज भी लोग इन्हे जानते है।

Comments