Skip to main content

ये है श्रीलंका का पुराना नाम | Sri Lanka Ka Purana Naam

श्रीलंका का पुराना नाम | Sri Lanka Ka Purana Naam

जानेगे sri lanka ka purana naam क्या है. श्रीलंका एशिया महादीप एक देश है। हिन्द महासागर और दक्षिण एशिया के उत्तरी भाग में श्रीलंका देश स्थित है। श्रीलंका एक द्वीपीय देश है। श्रीलंका में महत्वपूर्ण बन्दरगाह होने के कारन ये दुनिया प्रमुख आर्थिक शहर है। श्रीलंका की राजधानी श्री जयवर्धनापुरा-कोट्टी है और सबसे बड़ा शहर कोलम्बो है। श्रीलंका का मुख्य पडोशी देश भारत है और ये भारत देश से बहुत करीब है. भारत देश के दक्षिण भाग में स्थित है।

यहाँ पर हम आपको श्रीलंका का पुराना नाम बताएँगे और इसी के साथ हम आपको श्रीलंका देश का ये नाम इसे कैसे पड़ा और श्रीलंका का इतिहास के बारे जानकारी हासिल करेंगे।

श्रीलंका का पुराना नाम - Sri Lanka Ka Purana Naam


श्रीलंका का पुराना नाम:- सीलोन


श्रीलंका का पुराना नाम “सीलोन” है। 1972  श्रीलंका देश को इसी सीलोन नाम से जाना जाता था। बाद इसका नाम लंका रखा। 1978 में श्रीलंका देश का आधुनिक नाम "श्रीलंका" रख दिया।

श्रीलंका देश का इतिहास


श्रीलंका देश का प्राचीन इतिहास 125,000 वर्ष पुराना है, लेकिन लिखित इतिहास सिर्फ ३००० वर्ष का ही है। श्रीलंका की सबसे प्राचीन संस्कृति "बौद्ध" धर्म की संस्कृति रही होगी। श्रीलंका देश का उल्लेख भारतीय महाकाव्य रामायण में भी किया गया है। श्रीलंका को जितने के लिए भारतीय राजवंशों ने कही बार प्रयास किया। श्रीलंका में बोद्ध धर्म का प्रचार करेने के लिए  सम्राट अशोक के पुत्र महेन्द्र बहुत प्रयास किया था। महेन्द्र के कारन ही श्रीलंका में बौद्ध धर्म का आगमन हुआ था।

सोलहवीं सदी में पुर्तगालियों ने श्रीलंका में अपना व्यापार start किया। श्रीलंका सोलहवीं सदी में एक मुख्य व्यापारी केंद्र बन गया और यूरोप और अन्य देश में मसालों का निर्यातक बन गया। श्रीलंका के मसालों के निर्यात प्रमुख मसाले चीनी, कॉफ़ी, दालचीनी और चाय थी। इसके बाद डचो ने श्रीलंका के निवासियों साथ मिलकर पुर्तगालियों पर हमला किया और श्रीलंका देश को अपने कब्जे लिया। इसके बाद डच लोगों यहाँ पर अपना व्यापार start किया और हर उपयोगी चीज पर ज्यादा कर थोप दिया।

1660 में श्रीलंका में अंग्रेज आ गए और एन अंग्रेज लोगो ने डच इलाकों पर अपना अधिकार जताया 1818 तक पुरे श्रीलंका देश में अंग्रेजों का अधिकार हो गया। भारत को स्वंत्रता मिलने के बाद, श्रीलंका देश में स्वतंत्रता मिलने के लिए आदोलंन तेज हो गे 4 फरवरी 1948 में यूनाइटेड किंगडम स्वतंत्रता मिली।

 संबंधित लेख जरूर पढ़ें

- श्रीलंका के प्रधानमंत्री कौन है 
- श्रीलंका के राष्ट्रपति कौन है 


Comments