Skip to main content

चेन्नई का पुराना नाम क्या है | Chennai Ka Purana Naam

Chennai Ka Purana Naam

जानेगे chennai ka purana naam भारत के तमिलनाडु राज्य की राजधानी शहर चेन्नई है। चेन्नई का क्षेत्रफल 426 वर्ग किलोमीटर है और जनसंख्या 46,46,732 2011 2011 के जनगणना के अनुसार। चेन्नई  प्रमुख व्यवसाय केन्द्र है। चेन्नई भारत का सबसे सुरक्षित शहर में से एक है। इसके कारन बहुत सारे पर्यटन चेन्नई  में घुमने के लिए आते है। चेन्नई भारत देश के प्रमुख महानगर में से एक है। 

यहाँ पर हम आपको चेन्नई का पुराना नाम बताने वाले है और ये पुराना नाम चेन्नई को कैसे पड़ा ये भी बताने वाले है। चेन्नई के पुराने शहर के बारे में भी जानकारी लेंगे।

चेन्नई का पुराना नाम - Chennai Ka Purana Naam


चेन्नई का पुराना नाम :- मद्रास


चेन्नई का पुराना नाम मद्रास है। चेन्नई का ये नाम "मद्रासपट्नम" नाम से पड़ा है। 1996 में तमिलनाडु राज्य ने इसका नाम बदलकर चेन्नई रखा। आज के टाइम भी एस शहर को मद्रास कहा जाता है। लेकिन याद रखे ये इसका पुराना नाम है।

चेन्नई का इतिहास

दक्षिण भारत का चेन्नई प्राचीन काल से ही एक महत्त्वपूर्ण प्रशासनिक और आर्थिक शहर रहा है। दक्षिण भारत में राज्य करेने वाले राजवंशों का प्राचीन चेन्नई शहर एक प्रमुख महत्त्वपूर्ण बंदरगाह और व्यापार का केंद्र रहा है। चेन्नई शहर को अपने राज्य में जोड़ने के लिए बहुत सारे महत्त्वपूर्ण राजवंशों चेन्नई शहर पर हमला करते थे।

दक्षिण भारत का महत्त्वपूर्ण बंदरगाह होने के कारन 15 के दशक में चेन्नई में पुर्तगालियों अपना व्यापार केन्द्र बनाया। पुर्तगालियों ने यहाँ पार "साओ तोमे" नाम का सबसे बड़ा बंदरगाह बना लिया। साओ तोमे बंदरगाह पुर्तगालियों के व्यापार को बढ़ाने ने के लिए महत्त्वपूर्ण योगदान दिया। चेन्नई के उत्तर में पुलीकट में पुर्तगालियों ने अपना बसेरा बसाया था, जिसे बाद में  डच इस्ट इंडिया कंपनी नाम रखा गया।

16 के दशक में चेन्नई में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी अपने व्यापार को बढ़ने के लिए चेन्नई में दाखिल हो गयी। ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने राजा पेडा वेंकट जो विजयनगर रजा थे, उनसे चेन्नई शहर में कुछ जमीन खरीदी। राजा पेडा वेंकट से एस जमीन की खरेदी 22 अगस्त 1639 में की गयी। ब्रिटिश व्यापारियों एस जमीं पर गोदाम और फैक्ट्री बनाने की अनुमति उस इलाके के नायक दमरेला वेंकटपति से ली. यहाँ पर ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने एक किल्ला भी बनाया था जिसका नाम "सेंट जॉर्ज" था।

1746 में फ्रासिंसी फौजों ने सेंट जॉर्ज के किले और मद्रास पर हमला किया और एस शहर के उपर अपना कब्ज़ा कर लिया। 1949 में पुन ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी फ्रांसिसियों के उपर हमला करके जॉर्ज के किले और मद्रास हासिल किया।

मद्रास शहर व्यापार के लिए इतना महत्वपूर्ण था की, एस शहर की रक्षा के लिए ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने किलेबंदी कर दी। यहाँ से ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने पुरे तमिलनाडु पर अपना कब्ज़ा किया था। अधीन किये हुए हिसे को ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने "मद्रास प्रेसिडेंसी" नाम दिया था। उस time मद्रास प्रेसिडेंसी राजधानी शहर "मद्रास" था जो आज का चेन्नई नाम से जाना जाता है।

Chennai Ka Purana Naam ये पोस्ट आपको कैसा लगा ये हमे कमेंट में जरुर बताये।

Comments

Popular posts from this blog

पुलिस विभाग में बंपर भर्ती 2020 में

पुलिस विभाग में बंपर भर्ती 2020 में योग्यता :- 8 पास / 10 पास / 12 पास वेतन : 35 हजार महिना आवेदनकरे :- http://bit.ly/rde32er Apply Online :-   http://bit.ly/rde32er

डी मार्ट में निकली बम्पर भर्ती 2020

  डी मार्ट में निकली बम्पर भर्ती 2020 आवेदन करे :- http://bit.ly/ghb78yu अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें

HDFC Bank ने विभिन्न पदों पर नौकरी का सुनहरा मौका..

HDFC Bank ने विभिन्न पदों पर नौकरी का सुनहरा  मौका.. योग्यता:  8 पास / 10 पास || वेतन : 27500 हजारमहिना यहाँ करेआवेदन :-      http://bit.ly/gtr45rfg अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें