Skip to main content

ये है बिहार का सबसे छोटा जिला । Bihar Ka Sabse Chota Jila

Bihar Ka Sabse Chota Jila


जानेगे bihar ka sabse chota jila का नाम। बिहार पूर्वी भारत का एक राज्य है,जो नेपाल देश की सीमा के पास है। बिहार में 38 जिले है। यहाँ पर हम बिहार का सबसे छोटा जिले का नाम जानने वाले है। जानेगे क्षेत्रफल की दृष्टी से और जनसँख्या की दृष्टी से सबसे छोटा जिला कोनसा है और उसके बारे में जानकारी भी हासिल करेंगे।

बिहार का सबसे छोटा जिला - Bihar Ka Sabse Chota Jila


क्षेत्रफल की दृष्टी से बिहार का सबसे छोटा जिला


क्षेत्रफल की दृष्टी से बिहार का सबसे छोटा जिला “शिवहर” है। जिले का क्षेत्रफल 443 वर्ग किमी है। शिवहर पहले सीतामढी जिले भाग था,1994 में शिवहर को सीतामढी जिले से अलग करके एक नया जिला बनाया गया. शिवहर जिला मुख्यालय भी है। शिवहर जिले के सीतामढ़ी जिला उत्तर और पूर्व में स्थित है, पश्चिम और पूर्वी में चंपारण जिला है और मुजफ्फरपुर जिला दक्षिण में स्थित है। शिवहर जिले में गाँव की संख्या 207 है और पंचायतों की संख्या 53 है।

2011 के अनुसार इसकी आबादी 656,916 है। जनसख्या से शिवहर भारत में 511 वा छोटा जिला है. सबसे बड़ा धर्म हिन्दू धर्म है और दूसरा सबसे बड़ा धर्म मुस्लिम है। शिवहर जिले में हिन्दू 73.19% , मुस्लिम 26.14% , कौनसा धर्म पता नहीं 0.53% , ईसाई 0.08%, सिख 0.03%, बोद्ध 0.01%, जैन  0.01%, अन्य लोग 0.01% शिवहर जिले के प्रति वर्ग किलोमीटर 1,882 लोग रहते है। शिवहर जिले का साक्षरता दर 72% है।

शिवहर जिले का मुख्य व्यवसाय कृषि है। सभी प्रकार की फसलों का उत्पादन शिवहर जिले में कीया जाता है. इसमे खासकर तिलहन, गन्ना, तम्बाकू धान, चावल, गेहूँ, मक्का, दलहन, इसमे कई रबी फसल भी शामिल है। शिवहर जिले में कृषि के अलावा दूसरा बड़ा व्यवसाय कोई नहीं है। इसके कारन इसे भारत देश के पिछड़े जिलों में शामिल किया गया है।

शिवहर एक अच्छा पर्यटन स्थल है। देवकुली धाम, बरगद का वृक्ष, जानकी मंदिर, हलेश्वर स्थान, जानकी कुंड, धनकौल दुर्गा मंदिर, बगही मठ आदि अछे पर्यटन स्थल है।

जनसंख्या की दृष्टी से बिहार का सबसे छोटा जिला


जनसंख्या की दृष्टी से बिहार का सबसे छोटा जिला “शेखपुरा” है। 2011 के अनुसार शेखपुरा की जनसँख्या 634,927 है। जिले का जनसंख्या घनत्व प्रति वर्ग किलोमीटर में 922 निवासि रहते है। पीछले 10 साले में 20.82% जनसंख्या में वृद्धि हुई है. शेखपुरा जिले का  साक्षरता दर 65.96% है।

जिले का प्रशासनिक मुख्यालय शेखपुरा शहर है। मुंगेर डिवीजन शेखपुरा जिला हिस्सा माना जाता है। शेखपुरा जिले का क्षेत्रफल 689 वर्ग किलोमीटर है।

शेखपुरा पहले मुंगेर जिले का हिस्सा था 31 जुलाई 1994  मुंगेर जिले इसे अलग किया गया और शेखपुरा जिला घोषित किया। राजो सिंह ने जिले के गठन में मुख्य भूमिका निभाई थी। डॉ। श्री कृष्ण सिंह जो बिहार के पहले मुख्यमंत्री रहे है वो शेखपुरा जिले से ही है।

शेखपुरा का मुख व्यवसाय कृषि है और इसके कारन सभी लोग कृषि पर निर्भर हैं। रोजगार जिले में रोजगार उपलब्ध करने की बहुत कोशिश कर रही है। जिले की विकास के लिए BRGF की तरफ से धन प्राप्त कर रहा है।

bihar ka sabse chota jila ये पोस्ट आपको कैसी लगी ये हमे कमेंट में जरुर बताये।

Comments

Popular posts from this blog

मीटर रीडर पदों पर निकली बम्पर भर्ती 2020 में

मीटर रीडर पदों पर निकली बम्पर भर्ती 2020 में
योग्यता : 8 पास/10 पास | वेतन : Rs.22,050/- महिना
आवेदक फॉर्म यहाँ भरे :-  http://bit.ly/ghr56tyu


Apply Online :-http://bit.ly/ghr56tyu



HDFC Bank ने विभिन्न पदों पर नौकरी का सुनहरा मौका..

HDFC Bank ने विभिन्न पदों पर नौकरी का सुनहरा मौका..
योग्यता: 8 पास / 10 पास || वेतन : 30 हजार महिना
यहाँ करे आवेदन :- http://bit.ly/hty68yt



Apply Online :-http://bit.ly/hty68yt




परिवहन विभाग महाभर्ती 2020-21

परिवहन विभाग महाभर्ती 2020-21
योग्यता: 8 पास, 10 पास, 12 पास
आवेदनकरे :- http://bit.ly/hty68yt


Apply Online :-http://bit.ly/hty68yt