Skip to main content

ये है भारत का राष्ट्रीय पक्षी - Bharat Ka Rashtriya Pakshi

Bharat Ka Rashtriya Pakshi


जानेगे bharat ka rashtriya pakshi का नाम। भारत एशिया महादीप पर एक देश है। भारत में पक्षियों अलग अलग प्रजातियाँ देख सकते है। 2016 में एक अनुसार भारत देश में 1266 प्रजातियां ज्ञात है, लेकिन इनमे से कही प्रजातियाँ विलुप्त प्रजातियों को भी शामिल किया गया है। भारत देश में पक्षियों की एसी प्रजातियाँ है जो विलुप्त होने की हाल में है।

यहाँ पर हम आपको भारत का राष्ट्रीय पक्षी का नाम बताने वाले है और  राष्ट्रीय पक्षी के बारे जानकारी भी पता करेंगे, जैसे की उसका आकार, आहार आदि।

भारत का राष्ट्रीय पक्षी - Bharat Ka Rashtriya Pakshi


भारत का राष्ट्रीय पक्षी :- मोर

भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोरे है। मोर पक्षी के बारे में अधिक जानकारी आप नीचे पढ़ सकते है।

भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोरे क्यों बनाया गया?


26 जनवरी 1963 को मोर को भारत का राष्‍ट्रीय पक्षी घोषित कर दिया गया। कही लोगो को एसा लगता है की, मोर खूबसूरत होने के कारन इसे भारत का राष्‍ट्रीय पक्षी घोषित कर दिया होगा, लेकिन एसा नहीं है। भारत का राष्‍ट्रीय पक्षी घोषित कर देने से पहले कई अन्य पक्षियों के नाम भी लिस्ट में लिखा गया था। एस लिस्ट में ब्राह्मि‍णी काइट, बस्‍टार्ड, सारस क्रैन, हंस जैसे खुबसूरत पक्षी थे। भारत का राष्ट्रीय पक्षी बनने के लिए खूबसूरती के अलावा भारतीय परंपरा और भारतीय संस्कृति हिस्सा होना जरुरी था। इसके तहत शिष्टता और सुंदरता प्रतीक रहने वाले मोरे को भारत का राष्‍ट्रीय पक्षी बनाया गया।

मोर पक्षी के बारे में जानकारी


मोर पक्षी का भारतीय संस्कृति में एक पवित्र स्थान है। मोर श्री गणेश का भाई कार्तिकेय का का वाहन माना जाता है। मोर रंग-बिरंगी और बहुत ही खुबसूरत होते है. बसन्त और बारिश के मौसम में आप भारत देश के कही जगह पर इसे नाचता देख सकते है, मोर पक्षी प्रणय निवेदन एसा करता है।

दक्षिणी और दक्षिणपूर्वी एशिया मोर पक्षी का मूल स्थान है.भारत के अलावा श्रीलंका और म्यांमार देश का भी राष्ट्रीय पक्षी मोर ही है। मोर का वैज्ञानिक नाम पावो क्रिस्टेटस है जो फैसियानिडाई परिवार के सदस्य है. मयूर ये मोर का संस्कृत नाम है और पीकॉक, ब्ल्यू पीफॉउल ये मोर का अंग्रेजी नाम है।

भारतीय मोर छोटे समूहों में रहते है और ये भारतीय मोर को आप जंगल में भी देख सकते है। भारत देशो की गाँव में इसे आप चिड़ियाघरों और किसान के खेतो में देख सकते है। कीड़े, घोंघे, मेंढक, सांप, घास और बिज ये मोर के प्रमुख खाद्य पदार्थ है।

मादा मोर 90 सेंटीमीटर तक लंबी होती है और नर मोर 55 सेंटीमीटर ऊँचा और 220 सेंटीमीटर लंबा होता है। मोर का वजन 15 - 20 किलो तक हो सकता है। इनका शरीर का आकार टर्की के शरीर जैसा होता है. "कलंगी" के कारन आप नर मोर और मादा मोर को आसानी से पहचान सकते है। छोटी कलंगी मादा के सिर पर होती है और बड़ी कलंगी नर के सिर पर होती है। मोर हर जगह पर अलग अलग रंग में आप देख सकते है। मोर का original रंग नीला होता है। इसके अलावा मोर जामुनी, सफ़ेद रंग के मोर आप देख सकते है।

bharat ka rashtriya pakshi ये पोस्ट आपको कैसी लगी ये हमे कमेंट में जरुर बताये।

Comments

Popular posts from this blog

मीटर रीडर पदों पर निकली बम्पर भर्ती 2020 में

मीटर रीडर पदों पर निकली बम्पर भर्ती 2020 में
योग्यता : 8 पास/10 पास | वेतन : Rs.22,050/- महिना
आवेदक फॉर्म यहाँ भरे :-  http://bit.ly/ghr56tyu


Apply Online :-http://bit.ly/ghr56tyu



HDFC Bank ने विभिन्न पदों पर नौकरी का सुनहरा मौका..

HDFC Bank ने विभिन्न पदों पर नौकरी का सुनहरा मौका..
योग्यता: 8 पास / 10 पास || वेतन : 30 हजार महिना
यहाँ करे आवेदन :- http://bit.ly/hty68yt



Apply Online :-http://bit.ly/hty68yt




परिवहन विभाग महाभर्ती 2020-21

परिवहन विभाग महाभर्ती 2020-21
योग्यता: 8 पास, 10 पास, 12 पास
आवेदनकरे :- http://bit.ly/hty68yt


Apply Online :-http://bit.ly/hty68yt